अवैध उत्खनन को लेकर सैकड़ों ग्रामीणों का हंगामा, मौके पर पहुंची पुलिस राजस्व विभाग का अमला

अवैध उत्खनन को लेकर सैकड़ों ग्रामीणों का हंगामा, मौके पर पहुंची पुलिस राजस्व विभाग का अमला


मझौली तहसील के तपा खुडावल गांव का मामला : ग्रामीणों का आरोप लाखों के सागौन के वृक्षों का किया गया कत्लेआम


सिहोरा 

मझौली तहसील के तपा खुडावल गांव में गुरुवार को अवैध उत्खनन को लेकर ग्रामीणों ने जमकर हंगामा किया। हंगामे की खबर लगते ही गोसलपुर थाने का पुलिस बल राजस्व विभाग के साथ माइनिंग विभाग का अमला मौके पर पहुंचा। ग्रामीणों का आरोप था कि पहाड़ी पर अवैध मुरम  का उत्खनन चेन मशीन से किया जा रहा है। अवैध उत्खनन के दौरान यहां लगे लाखों रुपए के सागौन के वृक्षों का कत्लेआम कर दिया गया। करीब 2 से 3 घंटे तक मौके पर हंगामे की स्थिति बनी रही। इस बीच अवैध उत्खनन करने वाले वाहनों को लेकर मौके से फरार हो गए। वही पोकलेन मशीन को ग्रामीणों ने घेर लिया। 



जानकारी के मुताबिक ग्राम पंचायत तपा खुडावल में पटवारी हल्का नंबर 45 में पोकलेन मशीन से मुरम खोदी जा रही थी। दोपहर करीब 1 बजे के लगभग ग्रामीणों ने इसकी सूचना गोसलपुर थाने पुलिस को दी। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि अवैध तरीके से मुरम खोदी जा रही है। पुलिस के पहुंचने के बावजूद ग्रामीण हंगामा करते रहे। ग्राम पंचायत के सरपंच राजेश मिश्रा ने आरोप लगाया कि दिन के समय तो छोड़िए रात के समय बड़ी-बड़ी मशीनों लगाकर मुरम का अवैध उत्खनन हो रहा है। मुरम के साथ मैग्नीज का अवैध उत्खनन हो रहा है।

नायब तहसीलदार, माइनिंग इंस्पेक्टर पहुंचे मौके

ग्रामीणों के हंगामे की खबर लगते ही नायब तहसीलदार मझौली रूबी खान और माइनिंग इंस्पेक्टर सतीश मिश्रा मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने यह भी बताया कि जिस पहाड़ी पर अवैध मोरम का उत्खनन हो रहा है वहां कहीं भी मुनारे तक नहीं लगे हैं। यहां कुछ वर्षों पहले सागवान के वृक्ष लगाए गए थे उनका भी अवैध उत्खनन कर्ताओं ने कत्लेआम कर डाला। माइनिंग इंस्पेक्टर और नायब तहसीलदार ने मौके पर हो रहे मुरम के उत्खनन को तत्काल बंद कराया। 


क्या कहते हैं जिम्मेदार

ग्राम तपा खुडावल में मुरम के खनन को लेकर ग्रामीणों ने आपत्ति जताई की जिस जगह पर मुरम खोदी जा रही है वह अवैध है। मौके पर हो रहे मुरम के खनन को तत्काल बंद कराते हुए सीमांकन होने तक काम को बंद करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही मौके पर पंचनामा भी तैयार किया गया। 

सतीश मिश्रा, माइनिंग इंस्पेक्टर
Previous Post Next Post
Wee News