इस राज्य के 130 जेलों के तकरीबन 4 हजार कार्मिकों ने छोड़ा खाना, भूखे पेट कर रहे काम, जानें वजह


जयपुर। राजस्थान की करीब 130 से भी ज्यादा जेलों में काम करने वाले जेल कर्मियों को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है। जेल कार्मिकों ने आज से अन्न त्याग कर भूखे पेट काम करना शुरु कर दिया हैं। प्रदेश की तमाम जेलों में यही हालात है। सभी जगहों पर इसी तरह से काम हो रहा है। बड़ी बात ये है कि काम के बीच किसी ने छुट्टी नहीं ली है। यह सारा मामला अफसरों की नजर में है लेकिन उसके बाद भी जेल विभाग से ताल्लुक रखने वाले किसी भी अफसर ने इस मामले में कोई दखल नहीं दी है।

दरअसल अखिल राजस्थान राज्य कर्मचारी संयुक्त महासंघ एकीकृत के अधीन होकर ये सब किया जा रहा है। जेल कार्मिकों ने काफी लंबे समय से सरकार के सामने अपनी मांगे रखी हैं। लेकिन कई सरकारें बदल जाने के बाद भी उनकी मांगे पूरी नहीं हो रही है। उनका कहना है कि उनका काम भी एकदम पुलिस की तरह ही है। बल्कि वे लोग पुलिस से भी ज्यादा काम करते हैं। पुलिस जिन खूंखार बदमाशों को पकडकर लाती है जेल कार्मिक उन बदमाशों के बीच ही रहते हैं। ऐसे में उनकी ड्यूटी पुलिस से भी ज्यादा खतरनाक है।

पुलिस और जेल कर्मियों के वेतन के बीच काफी अंतर
सरकार ने पुलिसकम्रियों की ग्रेड पे और जेल कार्मिकों की ग्रेड पे में अंतर कर रखा है। यह अंतर कई सालों से चला आ रहा है। वर्तमान सरकार ने भी यह अंतर खत्म करने की बात कही थी लेकिन ऐसा चार साल बीत जाने के बाद भी नहीं किया गया। जेल कार्मिकों ने वेतन समेत करीब सात मांगों को लेकर आज से अन्न त्याग दिया है। उनका कहना है कि अब भूखे रहकर ही काम करेंगे फिर चाहे किसी की जान चली जाए।

जेलों में तैनात हैं 4 हजार से ज्यादा कर्मी
उल्लेखनीय है कि राजस्थान की जेलों में करीब चार हजार से भी ज्यादा जेल कार्मिक हैं। इन कार्मिकों ने कुछ दिन पहले भी काली पट्टी बांधकर विरोध करते हुए काम किया था। सबसे बड़ी बात ये है कि किसी ने भी काम के दौरान छुट्टी नहीं ली है।
Previous Post Next Post
Wee News