ओलम्पियाड की परीक्षा : 96 प्रतिशत ने उत्साह से दी परीक्षा

ओलम्पियाड की परीक्षा : 96 प्रतिशत ने उत्साह से दी परीक्षा
सिहोरा विकासखंड के 8 जन शिक्षा केंद्रों में 1498 परीक्षार्थी हुए शामिल




सिहोरा 

राज्य शिक्षा केंद्र भोपाल के निर्देशानुसार 19 जनवरी को जिले के सभी जनशिक्षा केंद्रों पर समेकित ओलम्पियाड प्रतियोगिता अंतर्गत परीक्षा अयोजित की गई।इसी तारतम्य में विकासखण्ड सिहोरा के 8 जनशिक्षा केंद्रों में पंजीकृत 1567 विद्यार्थी विभिन्न वर्ग समूह में शामिल थे उनमें से 1498 विद्यार्थी परीक्षा में उपस्थित हुए। इस प्रकार विकासखंड सिहोरा में भीषण ठंड के बीच विद्यार्थियों द्वारा बहुत ही उत्साह के साथ लगभग 96 प्रतिशत विद्यार्थियों ने परीक्षा दी। उपरोक्त जानकारी देते हुए जनपद शिक्षा केंद्र सिहोरा के बीएसी बृजेश श्रीवास्तव बीआरसीसी पी एल रैदास , बीएसीअश्वनी उपाध्याय ,बीएसी राकेश पटेल ने बताया कि गुरूवार को ओलम्पियाड में कक्षा दूसरी, तीसरी व चौथी से 8वीं के वर्ग में अंग्रेजी ओलम्पियाड व कक्षा 6 वीं से 8 वीं वर्ग में अंग्रेजी, गणित, विज्ञान हिन्दी व प्रश्न मंच अंतर्गत समेकित ओलम्पियाड हुआ। कक्षा दूसरी से 5 वीं के विद्यार्थियों के लिए अंग्रेजी भाषा के 30 बहुविकल्पीय प्रश्न ,कक्षा 6 वीं से 8वीं के लिए 5 विषयों के 20-20 प्रश्नों को मिलाकर कुल 100 बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को शामिल परीक्षार्थियों द्वारा सुबह 11:00 बजे परीक्षा केंद्र में पहुंचकर ओएमआर शीट में प्रश्नों के उत्तर लिखे।

यह रहे परीक्षा केंद्र 

विकासखंड सिहोरा के अंतर्गत ओलंपियाड परीक्षा के लिए कुल 8 जन शिक्षा केंद्रों को परीक्षा केंद्र बनाया गया था जिनमें विकासखण्ड सिहोरा के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय क्रमशः गांधीग्राम, गोसलपुर ,अगरिया , खिरहनी कला कूम्ही सतधारा, कन्या उमावि सिहोरा, मझगवां, यशोदा बाई खितौला बाजार को परीक्षा केंद्र बनाया गया था।जहां पर प्राचार्यों, पर्यवेक्षकों द्वारा केंद्र अध्यक्ष के रूप में ओलंपियाड परीक्षा निर्विघ्न संपादित कराई।

यह हुई परेशानियां

भारी ठंड के बीच अपने अपने बच्चों को ओलंपियाड की परीक्षा दिलाने पहुंचे अभिभावकों एवं बच्चों द्वारा बताया गया कि ठंड के बीच टाट पट्टीओ में बैठकर बच्चों को परीक्षा देनी पड़ी। जबकि कमरे के अंदर बहुत अधिक ठंड का वातावरण था। बहुत सही केंद्रों पर लाइट आदि की पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी। वही प्राइमरी व मिडिल स्तर के बच्चों द्वारा बताया गया कि उन्हें ओलंपियाड परीक्षा की उत्तर ओएमआर शीट में लिखवाने की पहले से प्रैक्टिस नहीं कराई गई। जिसके कारण उनका परीक्षा में बहुत सा समय नष्ट हुआ गौरतलब है कि राज्य शिक्षा केंद्र को परीक्षा आयोजन कराने के पूर्व अभ्यास कार्य हेतु लगभग सप्ताह भर पहले स्कूलों को ओएमआर शीट की फोटो कॉपी भिजवानी थी। जिससे कि बच्चे उसे समझ कर परीक्षा देने की प्रैक्टिस कर सकें। वहीं कुछ शिक्षकों द्वारा कहा गया कि ओएमआर शीट पर उत्तर लिखने की परीक्षा बच्चे पहली बार दे रहे हैं।


 कक्षा वर्ग दर्ज उपस्थित 
2 से 3 278 250

4 से 5 282 268

6 से 8 1007 980
Previous Post Next Post
Wee News