खटोला गोठन के बहाने गौण खनिज का दुरुपयोग, शासन को लग रहा लाखों का चूना


जांजगीर। छत्तीसगढ़ शासन की महत्वाकांक्षी योजना गौठान का हाल दिनों दिन बद से बद्तर होता जा रहा है सबसे दुखद कि जनपद पंचायत के समीपस्थ ग्राम पंचायतों में भी यह योजना दम तोड़ रही है लेकिन जनपद पंचायत सीईओ का ध्यान केवल राष्ट्रीय राजमार्ग के निकट उन ग्राम पंचायतों में है जहां अधिकांश मंत्री गण या रायपुर के उच्चाधिकारियों का आना-जाना होता है । हम बात कर रहे हैं ग्राम पंचायत खटोला की जहां गौण खनिज मद तथा डीएमएफ की राशि का दुरुपयोग गोठान के बहाने हो रहा है । बताया जा रहा है कि गोठान में मुर्गी पालन के लिए शेड बनाया गया है जहां मुर्गी तो दूर मुर्गी का एक अंडा भी नहीं दिखाई दे रहा है ।

16 लाख का टीन शेड



इसी तरह यहां लगभग 16 की राशि से निर्मित दो टीन के शेड 2020-21 में बनाये गये है जिसका क्या उपयोग है आज तक समझ नहीं आ रहा है क्योंकि गायों को तो केवल खेतों में फसल खड़ी होने की दशा में ही रखा जा रहा है न तो इस गोठान में कोई स्व सहायता समूह काम कर रहा है न ही यहां सरपंच या सचिव द्वारा कोई कार्य कराया जा रहा है तो आखिर लाखों की राशि का यह दूरुपयोग क्यो किया जा रहा है जबकि इस राशि का उपयोग ग्रामीण जनता की भलाई के लिए किया जाना चाहिए परंतु शासन की लापरवाह जवाबदेही ने खुली छूट इन भ्रष्ट सरपंच सचिव को दी है ।
Previous Post Next Post
Wee News