प्रधानमंत्री ग्राम सड़क की कर दी दुर्गति, नाराज ग्रामीणों और पंचों ने करा दिया काम बंद


जांजगीर। अकलतरा अंतर्गत ग्राम पोड़ी दल्हा में जल जीवन मिशन योजना के आधुनिक भागीरथियो ने प्रधानमंत्री सड़क योजना अंतर्गत बनी सड़क का बुरा हाल कर दिया है । सड़कों का हाल देखकर भड़के पंचों एवं ग्रामीणों ने जल जीवन मिशन योजना के तहत पाइपलाइन बिछाने के काम को बंद कराया । ग्रामीणों ने बताया कि प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनी सड़क जो पिछले साल ही बनी है उसे दोनों ओर से उखाड़ कर सडक के बीचों-बीच मिट्टी का ढेर लगा दिया गया है बताया जा रहा है कि ग्राम पंचायत पोड़ी दलहा में जल जीवन मिशन योजना के तहत ओव्हर हेड पानी टंकी का निर्माण हो चुका है और पूरे गांव में पाइपलाइन बिछाने का काम चल रहा है लेकिन आर्यन कंपनी के सुपरवाइजर द्वारा प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत बनी सड़क का बुरा हाल कर दिया है । विदित हो कि अकलतरा अंतर्गत ग्राम दर्रा , पोड़ी दल्हा से लेकर सोनडीह तक चौदह किलोमीटर सडक पिछले साल ही बनकर तैयार हुई है जिसके लिए भी ग्रामीणों को पी एम ग्राम सड़क योजना के अधिकारियों से लंबी लड़ाई लडनी पड़ी थी । इसे अब साल भर बीतने के बाद जल जीवन मिशन योजना के कर्णधारों ने बुरी तरह बर्बाद कर दिया है साथ ऐसे जगह भी पाइपलाइन बिछाई जा रही है जहां कोई घर ही नहीं है ।



एक घर में चार कनेक्शन ,राशन कार्ड काटने की धमकी

ग्रामीणों ने बताया कि जिनके घरों में चार राशन कार्ड है उनके घर में जरूरत न होने पर भी चार नल कनेक्शन लगाया जा रहा है और सरपंच और लोगों द्वारा मना किये जाने पर यह कहकर ग्रामीणों को डराया जा रहा कि राशन कार्ड काट दिया जायेगा इसलिए लोग जरूरत न होने पर भी नल कनेक्शन लगवा रहें हैं ।



जहां बोर है वहां भी नल कनेक्शन

जल जीवन मिशन योजना एक ओर ठेकेदारो और अधिकारियों के लिए सोने के मोहरों से भरी थैली की तरह है तो दूसरी ओर यह योजना उन लोगों के लिए जी का जंजाल बन गई है जहां पहले से ही पानी की व्यवस्था अच्छी है ग्राम पोड़ी दल्हा के अधिकांश वार्डों में पानी की व्यवस्था ठीक-ठाक थी । कुछेक वार्ड ही पानी की व्यवस्था से वंचित हैं लेकिन शासन की योजना सुनकर लाल टपकाने वाले अधिकारियों और ठेकेदारों ने छत्तीसगढी कहावत " भरे के घर ले औऊ भरते " की तरह पानी कनेक्शन होने के बावजूद और नल का कनेक्शन एक नहीं बल्कि चार- चार दिया जा रहा है वह केवल इसलिए की ठेकेदार को प्रति कनेक्शन की दर से भुगतान होना है । इसे ही कहते हैं *फोकट का चंदन घिस मेरे लल्लु*

पिछले साल ही बड़ी मशक्कत के बाद सड़क बनाई गई थी जिसे जल जीवन मिशन योजना वालों ने उखाड़ दिया है । जब तक ठेकेदार आयेगा नहीं हम काम नहीं होने देंगे ।

ग्रामीण एवं पंच पोड़ी दल्हा


Previous Post Next Post
Wee News