बीस साल तक बुजुर्ग ने पचपेड़ी पुलिस की खूब किया सेवा, अब अपने तनख्वाह पाने को लेकर एसपी ऑफिस के चक्कर काट रहा बुजुर्ग।






विवेक देशमुख

मस्तूरी। आए दिन सुर्खियों में रहने वाले मस्तूरी क्षेत्र के थाना पचपेड़ी एक बार फिर सुर्खियों में है। मामला है पचपेड़ी थाने में साफ-सफाई व पानी भरने,चाय पानी पिलाने का काम करने वाले बुजुर्गों के तनख्वाह नहीं देने का। मिली जानकारी के अनुसार थाना पचपेड़ी के समिप ही लगे ग्राम पंचायत केवतरा निवासी दाऊ राम जांगड़े पिता तिजराम जांगड़े उम्र 60 वर्ष का व्यक्ति विगत 20 वर्षों से, जब पचपेड़ी पुलिस सहायता केंद्र था आज थाना बन गया है तब से दाऊ राम जांगड़े थाना पचपेड़ी में मुंशी, दरोगा, सिपाही लोगों का खूब सेवा किया है थाने में साफ-सफाई, झाड़ू पोछा, से लेकर चाय पानी पिलाने जैसे सभी काम करता था। अब वह बुजुर्ग हो चुका है। कहकर उसको थाना के साफ सफाई से लेकर अन्य कार्यों से उन्हें अब छुटकारा दे दिया गया है। लेकिन उनके सामने समस्या तब आ गई जब पुलिस वालों ने उसे काम लेना तो बंद कर दिया, लेकिन उनका 5 महीने का तनख्वाह भी नहीं दे रहे हैं। बुजुर्ग ने बिलासपुर एसपी को लिखित में एक पचपेड़ी पुलिस के खिलाफ शिकायत दिया है जिसमें उल्लेख किया है कि उसे दो हज़ार रुपए प्रतिमाह के हिसाब से काम में लगाया गया था। पहले तो ऐसे तैसे जैसे भी हो उसका तनख्वाह 2 महीने 3 महीने में दे दिया जाता था। लेकिन अभी विगत 5 महीनों से उसको उसका तनख्वाह नहीं दिया गया है जिससे परेशान बुजुर्ग व्यक्ति अब अपनी तनख्वाह पाने बड़े-बड़े पुलिस विभाग के अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर काट रहे हैं। और पचपेड़ी पुलिस पैसे देने के नाम पर अब उन्हें सिर्फ तारीख दर तारीख पेशी दे रहे हैं। अब हर कोई जवाबदार मुंशी दरोगा सिपाही अपने अपने जवाबदारी और बातों से पलटी मारते दिख रहे हैं ।जिससे परेशान बुजुर्ग व्यक्ति बिलासपुर एसपी से अपनी मेंहनत की कमाई पाने के लिए गुहार लगाया हैं। अब बिलासपुर एसपी मैडम इस बुजुर्ग व्यक्ति को न्याय दिला पाते हैं या नहीं, या यह बुजुर्ग व्यक्ति ऐसे ही अधिकारियों के कार्यालय के चक्कर काटते रहेंगे यहां बात विचारणीय होगा।
वही इस मामले में पचपेड़ी थाना प्रभारी बृजलाल भारद्वाज का कहना है कि वह दिसंबर महीने में पचपेड़ी थाना का प्रभार संभाला है दिसंबर महीने का पेमेंट उसने काम करने वाले इस बुजुर्गों को दे दिया है बाकी पिछले बकाया उसका पेमेंट मिला है या नहीं यह जानकारी में नहीं था। स्टाफ वालों से चर्चा कर बुजुर्गों की समस्या को निपटाने की बात कही है।
Previous Post Next Post
Wee News